What is Fear ?

What is Fear ? in human life
What is Fear ? in human life
What is Fear ?
The driver of human life is fear. Humans always find the reason for fear.
 The paths we choose in life. That election is also due to fear.
 But is this fear real?  Consider it
Fear means, in the coming time the imagination of adversity.
But who is the owner of time?
 Neither we are the lord of time, neither our enemies nor our competitors.
 Time goes on in obedience to God.
So, someone only makes plans to harm you. Can he really hurt you?
No never  But, our heart full of fear causes us much harm. Is not this true?
  At the time of adversity, the frightened heart makes unwise decisions. And makes distress more painful.
 But a heart full of faith also crosses the time of adversity smoothly.
 That is, the reason why man places fear in the heart, the same fear acts against him.
 That is, why the decision made by fear can never establish peace in the human heart.
 Is not this true?  Think yourself

Definition Of Faith

मनुष्य के जीवन का चालक है भय | मनुष्य सदा ही भय  का कारण ढूंढ लेता है |
 जीवन में जिन मार्गों का हम चुनाव करते हैं |  वह चुनाव भी भय के कारण ही करते हैं |
 किंतु क्या यह भय वास्तविक होता है ? विचार कीजिए | भय का अर्थ है ,आने वाले समय में, विपत्ति की कल्पना |
किंतु समय का स्वामी कौन है ?
 ना तो हम समय के स्वामी हैं, ना तो हमारे शत्रु, ना तो हमारे प्रतिस्पर्धी | समय तो, ईश्वर के आधीन चलता है|
तो क्या, कोई आप को हानि पहुंचाने के लिए केवल योजना बनाता है | वह वास्तव में आप को हानि पहुंचा सकता है ?
नहीं | किंतु, भय से भरा हुआ हमारा हृदय हमें अधिक हानि पहुंचाता है | क्या यह सत्य नहीं ?
  विपत्ति के समय भयभीत हृदय  अयोग्य निर्णय करता है| और विपत्ति को अधिक पीड़ादायक बनाता है |
 किंतु विश्वास से भरा हृदय  विपत्ति के समय को भी सरलता से पार कर जाता है |
 अर्थात ,जिस कारण ,मनुष्य भय को हृदय में स्थान देता है  वही भय उनसे विपरीत कार्य करता है |
 इसीलिए, भय से किया हुआ निर्णय |मनुष्य के हृदय में कभी शांति नहीं स्थापित कर सकता |
 क्या यह सत्य नहीं ? स्वयं विचार कीजिए |

Leave a Reply

%d bloggers like this: